moral stories in hindi, safalta kadi mehanat mangati hai




बार बार प्रयास करने वाले की कभी भी हार नहीं होती, moral stories in hindi


दोस्तो हमारे ब्लॉग मे आपका दिल से बहुत बहुत स्वागत है। आज हम आपको एक कहानी moral stories in hindi के बारे मे बताने जा रहे है जो मोटिवेशनल स्टोरी के रूप मे आपको बताई जाएंगी। दोस्तो अक्सर क्या होता है जब कोई व्यक्ति सफलता पाने के बहुत मेहनत करता है लेकिन उसके सामने कुछ चिनोतिया आ जाती है जिससे हार कर वह व्यक्ति घर पर बैठ जाता है और सोचता है कि यह काम मुझसे नहीं होगा आइये हम आपको एक कहानी के जरिये बताते है। 






moral stories in hindi, safalta kadi mehanat mangati hai
moral stories in hindi






सोनू ( कलपिनिक नाम ) नाम का लड़का हुआ करता था। जिसने अपनी जिंदगी मे कभी सुख नहीं देखा था। बचपन मे नाहि सोनू को खेलने के लिए खिलौने मिले और न ही बचपन मे कुछ सौक करने मिले क्योकि सोनू का परिवार बहुत ही गरीब हुआ करता था। उसका परिवार इतना गरीब था कि घर पर सिर्फ दो टाइम का ही खाना बन पाता था। आप सोच सकते है कि इस लड़के को बचपन मे क्या मिला होगा। सोनू ने अपना होश संभाला और मेहनत मजदूरी करने लगा। कई साल तक तो इस लड़के ने अपनी मेहनत से पैसा कमाके अपने परिवार का पालन पोषण किया।



मेहनत मजदूरी छोड़कर किसी दुकान पर इलेक्ट्रोनिक का काम सीखा और साल काम सीखने के बाद अपनी निजी छोटी से दुकान खोल ली। सोनू ने इलेक्ट्रोनिक का काम सीख कर अच्छी ख़ासी कमाई की और उसकी दुकान फेमस हो गई थी। सोनू की दुकान का प्रचार खुद ग्राहक किया करता था। दुकान जब इतनी अच्छी चल रही थी तब सोनू का परिवार भी सोनू से खुश था क्योकि सोनू के परिवार का खर्चा सोनू अच्छे खासे से चला रहा था।













देखिये जब कोई आदमी अपने जीवन मे संघर्ष कर रहा होता है तो उसके जीवन मे कुछ चिनोतिया भी आती है। 




सोनू का काम अच्छा तो चल ही रहा था लेकिन कुछ सालो के बाद उस काम मे मंदी आने लगी और सोनू की दुकान का काम गिरता चला जा रहा था। ऐसा इसलिए हो रहा था क्योकि जो सोनू इलेक्ट्रोनिक का काम करता था वह धीरे धीरे इसलिए कम होने लगा क्योकि मार्केट मे मोबाइल फोन का चलन शुरू हो गया था। सोनू को अपने काम मे मंदा देख बहुत ही हैरानी हुई की आखिर ऐसा क्या किया जाए जो फिर से मेरी दुकान चल पड़े। सोनू के दिमाग मे एक आइडिया आया की मुझे भी मोबाइल फोन का रिपेयर का काम सीखना चाहिए।


सोनू ने किसी अच्छे मोबाइल रिपेयर सेंटर मे जाकर 3 महीने तक मोबाइल रिपेयर का काम सीखा। जब सोनू को तीन महीने बीत जाते है तो अपनी दुकान मे इलेक्ट्रोनिक के साथ मोबाइल रिपेयर का भी काम करने लगता है। उस समय मोबाइल फोन का क्रेज इस कदर था कि लोग मोबाइल के लिए दीवाने थे जरा सी कोई मोबाइल मे कमी आ जाए तो किसी नजदीकी मोबाइल सेंटर पे तो इन्हे जाना ही था। इसका फायदा भी सोनू को होने लगा क्योकि सोनू का काम अब डबल हो चुका था। सोनू इलेक्ट्रोनिक और साथ मे मोबाइल रिपेयर का काम भी कर रहा था। इससे सोनू की काफी इन्कम रो रही थी। सोनू ने इसी चीज का फायदा उठाकर लोगो से अच्छी कमाई की और अच्छा खासा पैसा इकट्ठा किया और अपनी परिवार वो सारे सुख दिये जो उसका परिवार चाहता था।

दोस्तो इस कहानी से कई तथ्य सामने आए एक तो अपने कारोबार मे दिमाग लगाएंगे तो आप कभी भी धोखा नहीं खाएँगे और दूसरा की मेहनत करने वाले की कभी भी हार नहीं होती। दोस्तो अगर हमारा कोई सा भी कारोबार चल पड़ा है तो आपके अछि बात है लेकिन हमारा यह कहना है की किसी भी कारोबार का एक निश्चित टाइम जरूर होता है। अगर आप सोचे मेरा कारोबार फिलहाल सही चल रहा है तो आप गलत है क्योकि दोस्तो हर दिन नई से नई टेक्नोलोजी आ रही है। अगर आपका कारोबार सही चल रहा है तो आपको उस कारोबार के पैसो से ही दूसरा कारोबार जरूर करना चाहिए। इससे यह होगा की आने वाले समय मे अगर अगर आपका एक कारोबार पर मंदा आता है तो आप दूसरे कारोबार से कबर कर लेंगे।

दोस्तो आपको यह moral stories in hindi कैसी लगी हमे कमेंट मे जरूर बताए अगर आप इस तरह की खबरे पड़ना पसंद करते है तो हमारे ब्लॉग का नाम जरूर याद रखे और साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तो के साथ शेयर करना विलकुल भी न भूले। 



Post a Comment

2 Comments

  1. […] को इतनी गालिया क्यों दे रहा है। सफलता कड़ी मेहनत मांगती है  रामेश्वर साधू के रूप में भगवान् से […]

    ReplyDelete
  2. […] moral stories in hindi, सफलता कड़ी मेहनत मांगती है  […]

    ReplyDelete