shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story - Bhoot ki kahani

Saturday, October 6, 2018

shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story

      शापित मोबाइल फ़ोन की कहानी भूत की कहानी 
shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story
bhootkikahani.in
दोस्तों हम आपको एक ऐसी कहानी बताने जा रहे है जो एक मोबाइल फोन के ऊपर आधारित है। यह कहानी एक ऐसी आत्मा की कहानी है जो मोबाइल फोन को अपना घर बना चुकी थी। हां दोस्तों यह कहानी मात्र आपके मनोरंजन के लिए है। यह कहानी पूरी तरह से काल्पिनिक है इस कहानी से किसी घटना से या पात्रो से कोई सम्बन्ध नहीं है।
पुराणी बात है जब मोबाइल फोन का चलन हुआ था। तब लोगो को  मोबाइल फ़ोन खरीदने का बड़ा शौक था एक मोबाइल फोन प्रेमी ने एक फ़ोन ख़रीदा उस मोबाइल प्रेमी का नाम नीरज था। वह अपने फोन से इतना प्यार करता था कि वह हर समय चालाने से ज्यादा उसका ख्याल रखता था। नीरज को सभी लोग चिड़ाते थे कि वह उस मोबाइल को मंदिर में रखकर उसकी पूजा किया करे। लेकिन नीरज किसी की भी बात का बूरा नहीं मानता था। वह अपने काम से काम रखता था।


कई लोग तो नीरज से जला भी करते थे कि वह ऐसा क्यों रहता है। नीरज अक्सर अपने कामो में भी ज्यादा व्यस्त रहता था। अपने काम में ध्यान दे कर नीरज ने अच्छा खासा पैसा भी जमा कर लिया था। नीरज का का एक दादा लाही मकान था जहा पर नीरज रहा करता था। नीरज के माता पिता का नीरज के बचपन में देहांत हो गया था। नीरज बचपन से ही अकेला ही अपने मकान में रहता था। नीरज का भच्पन भरी परेशानी में व्यतीत हुआ था। नीरज अपने फोन को अपनी जान से ज्यादा प्यार करता था। इसलिए नीरज अपना फोन अपने पास ही ज्यादातर रखता था। Shapeet mobile phone ki kahani bhoot ki kahani
shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story
bhootkikahani.in


एक दिन नीरज के साथ एक दुर्घटना घाट जाती है। नीरज अपने घर पर रात में सो रहा होता है तब नीरज के घर में कुछ चोर घुस जाते है। नीरज के घर में घुस कर नीरज का पैसा ढूढ़ने लगते है ढूढ़ते ढूढ़ते कुछ अबाज हो जाती है उस आबाज को सुनकर करके नीरज उठ जाता है और शोर मचाने लगता है। नीरज को शोर मचाते देख चोर नीरज को पकड़ लेते है और नीरज को पीटने लगते है। पीटते पीटते नीरज से रखे पैसे के बारे में जानकारी मांगते है। नीरज उन चोरो को कुछ नहीं बताता है और चोर नीरज पर गुस्सा खा जाते है और नीरज के मुँह में कपडा टूस कर बेदर्दी से मारने लग जाते है।

वह कहा नीरज से बार पैसो की जानकारी मांगते रहते है। असहनीय दर्द को नीरज बर्दास्त नहीं कर पाता है और उन चोरो को अपने पैसो का पता बता देता है। चोर उन पैसो को लूट लेते है और नीरज को जान से मर देते है। और वह से चले जाते है। जब सुवह को नीरज के पडोसी को पता चलता है कि नीरज का मर्डर हो चुका है तो पुलिस फ़ोन करके पुलिस को नीरज के पडोसी पुलिस को बुला लेते है। पुलिस अपनी औपचारिकता पूरी करके वह से चली जाती है। नीरज का अंतिम संस्कार करने की तैयारी शुरू कर देते है। नीरज का अंतिम संस्कार करते समय नीरज के पास से वही फोन मिलता है जिसे नीरज अपनी जान से ज्यादा प्यार करता था। उस फोन को नीरज के घर में रख दिया जाता है। नीरज का अंतिम संस्कार कर दिया जाता है।
shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story
bhootkiakahni.in

जैसे ही दूर के रिस्तेदारो नीरज की मौत की खबर पड़ती है तो प्रॉपटी पाने के लिए नीरज के घर पर आ जाते है। नीरज के घर पर ही वह रिस्तेदार रहने लग जाते है। रिस्तेदारो को रहते रहते सिर्फ एक हफ्ता ही हुआ था कि रातों को किसी न किसी होने का एहसास नीरज के रिस्तेदारो को होने लगता है। लेकिन नीरज के रिस्तेदार इस बात को अपने दिमाग से निकाल देते है। सिर्फ नीरज का घर अपने नाम पर करवाने की सोचते रहते है। एक रिस्तेदार को नीरज का रखा हुआ दिखाई पड़ता है वह आदमी उस फोन को वह से उठा लेता है और अपने पास रख लेता है। Shapeet mobile phone ki kahani bhoot ki kahani

फिर होता है Cliemax शुरू 

नीरज का रिस्तेदार नीरज के फोन के साथ खेलता है उस फोन को यूज़ करता है। तो नीरज की आत्मा उस फोन में घुस जाती है। जैसे रात के 1 बजता वह फोन में खतरनाक रिंगटोन बजने लगती जब फोन को रिस्तेदार उठा कर देखता था तब उसमे भयानक स्क्रीन पर वॉलपेपर लगा हुआ दिखाई देता था। नीरज आत्मा उस फोन पर पूरी तरह से हॉबी हो चुकी थी। जैसे नीरज का मर्डर हुआ था। नीरज की आत्मा उसी तरह से अपनी मौत का बदला लेना चाहती थी लेकिन नीरज की आत्मा को सही समय आने का इंतजार था। रिस्तेदारो ने नीरज का घर अपने नाम पर तो करा लिया था।
shapeet mobile phone ki bhoot ki kahani, horror story
bhootkikahani.in
नीरज का घर और सारी चीजों को बेचकर कर पैसा बना कर बहा से निकल कर अपने घर लौटना था। एक रात पूरी तैयारी में नीरज के रिस्तेदार घर और घर की सारी चीज बेचकर अगली सुवह जाने वाले थे। की अचानक नीरज के फोन में भूतिया घंटी बजने लग जाती है उस समय करीब रात के 12 बज रहे थे। नीरज की आत्मा की शक्ति बदले की भाबना से इतनी बाद चुकी थी कि वह किसी भी शक्ति से टकरा सके। नीरज की आत्मा फोन के जरिये उन रिस्तेदारो को चेतावनी देती रही लेकिन रिस्तेदार समझ नहीं पाए। और उस रात अनजान तारीके उन सब रिस्तेदारो की मौत हो जाती है जो सिर्फ  लिए अपना इमांन बेचकर नीरज के घर आये थे। यह घटना सभी जगह आग की तरह फ़ैल गई और इस कहानी का पुलिस के पास कोई सबूत नहीं लगा। Shapeet mobile phone ki kahani bhoot ki kahani
कुछ महीने बीतने के बाद जिन चोरो ने नीरज का क़त्ल किया था। वह भी उस घर में आ जाते है कही उन्हें और पैसा या सामान मिल सके उन्हें सामान तो मिल जाता है लेकिन उनकी मौत बहुत ही दर्दनाक होती है। लोगो का मानना था कि इस घर में भूत पीसाज रहते है लेकिन हक़ीक़त यह थी कि भूतो का अड्डा नीरज का फ़ोन था। नीरज अपने फ़ोन से इतना प्यार करता था इसलिए नीरज की आत्मा उस फोन में जा कर अटक गई। दोस्तों आप ही बताई क्या नीरज की आत्मा ने गलत किया या सही हमें अपनी राये कमेंट जरूर बताये।

दोस्तों अगर आपको यह कहानी अच्छी लगी हो तो हमारी कहानी को शेयर करे और साथ ही लाइक और हमारे ब्लॉग सब्सक्राइब करना न भूले आपका दिन शुभ रहे। 

15 comments:

  1. Cam models come in all shapes and sizes.

    ReplyDelete
  2. What's up to every one, the contents existing at
    this website are genuinely amazing for people
    knowledge, well, keep up the good work fellows.

    ReplyDelete
  3. Hamari kahani padne ke liye bahut bahut dhanyabad sir

    ReplyDelete
  4. Everything is very open with a really clear description of the issues.
    It was really informative. Your site is very helpful.
    Thank you for sharing!

    ReplyDelete
    Replies
    1. thankyou sir hame saport karne keliye thanx for comment

      Delete
  5. I am truly pleased to read this blog posts which includes tons of useful
    data, thanks for providing these data.

    ReplyDelete
  6. Great info. Lucky me I found your website by chance (stumbleupon).
    I have book marked it for later!

    ReplyDelete
  7. After looking at a handful of the articles on your website, I really appreciate your technique of blogging.
    I book marked it to my bookmark site list and will
    be checking back soon. Please check out my web site as well and
    tell me your opinion.

    ReplyDelete
  8. hamari kahani padne ke liye aapka bahut bahut dhanyabad aapki website liye hame link dijiye

    ReplyDelete
  9. Excellent blog in this article! Moreover your web site
    significant amounts together very fast! Which provider
    presently utilizing? Am i able to purchase your online marketer get a link from a person's multitude?
    If only this site jam-packed up as swiftly mainly because the ones you
    have ; )

    ReplyDelete
  10. Awesome article.

    ReplyDelete
  11. Your means of telling everything in this paragraph is truly pleasant,
    every one be able to without difficulty know it, Thanks a lot.

    ReplyDelete