bhoot ki kahani jinnat ki dosti - Bhoot ki kahani- horror and scary stories in hindi

Saturday, November 4, 2017

bhoot ki kahani jinnat ki dosti

                                                 जिन्नात की दोस्ती 

                                      
jinnat ki dosti
आप सभी दोस्तों को एक एसी कहानी बताने जा रहा हूँ की एक जिन्नात किसी इन्सान से इतनी हद तब दोस्ती कर सकता 

गजल पुर नामक (काल्पिनिक नाम )एक कस्वा था जहा एक परिवार रहा करता था .उस परिवार में चाचा,चाची,भाई ,बहन रहा करते थे राजू की नई- नई शादी हुई थी . सभी खुशाल ज़िन्दगी गुजर बसर कर रहे थे .1 साल बाद राजू की बीबी के लड़का पैदा होता हे उसका नाम करन रखते हे करन दिमाग से थोडा कमजोर था वोह अच्छी बुरी बात भी पुरे तरीके के से नहीं समझता था . जेसे - जेसे करन बड़ा होता गया लेकिन उसकी लम्बाई तो बढती चली गयी लेकिन दिमाग पूरी तरीके से विकशित नहीं हुआ 
जब उसकी उम्र लगभग 7,8 साल हो गयी उसके जन्म दिन पर उसके माता पिता खरीदारी करने को शहर जाते हैं .खरीदारी कर कर जब घर को लोट रहे होते हे तभी करन के माता पिता की दुर्घटना हो जाती हे करन के माता पिता की उस दुर्घटना में मोंत हो जाती हैं .लेकिन करन को नहीं पता ये नहीं पता था कि उसके माता पिता इस दुनिया अब नहीं रहे करन के पिता पर जमीन जायदाद अच्छी खासी थी कम दिमाग के कारण उसको कठिनाइयों का सामना हर रोज करना पड़ता था . 


उसको इस बात की भी चिंता नहीं थी . खुसी या गम करन को जरा सी भी समझ नहीं थी . करन को 10 साल तक तो करन के दादा यानी करन पिता राजू के चाचा करन की देखभाल की फिर करन के दादा की तबियत ख़राब रहने लगी . जिससे वोह करन की देखभाल नहीं कर पा रहे थे पुरे परिवार में सिर्फ करन के दादा हि करन की देखभाल किया करते थे . कभी कभी तो करन घूमते हुए बहुत दूर तक चला जाता था .परिवार के सद्श्य करन को ढूंड कर लाया करते थे .एक दिन करन घर से बहार को घुमने के लिए आता हे बहुत दूर जाने के बाद रास्ता भटक जाता दिमाग के कमजोर होने के कारण उसे रास्ता नहीं मिल पाता हे दर व दर भटकता रहता हैं . भटकते भटकते वो जंगल  की ओर चला जाता हैं . दो दिन से जंगल में भटकता रहता हे ओर एक पीपल के पेड़ के नीचे रोने लगता हे उसी पीपल के पेड़ पर जिन्नात कई सालो से रह रहा होता था .करन ज्यादा रोने लगता हे तो जिन्नात उसे डराने कोशिश करता हे .


लेकिन करन नहीं डरता करन रात भर उसी पीपल के पेड़ के नीचे बेठा रहता हैं .जिन्नात उसे भागने की पूरी कोशिश करता जिन्नात की कोशिश नकामयाब हो जाती हे जिन्नात अब असली रूप में आकर पुझता हे तुम्हे क्या परेशानी हैं . तो जिन्नात से कहता हे कि मुझे भूख लगी हे जिन्नात अपनी शक्ति से करन की साडी असलियत जान लेता हैं .जिन्नात को करन पर रहम आने लगता हे जिन्नात करन को खाना ला कर देता हैं . कुछ दिनों में जिन्नात और करन में दोस्ती हो जाती हैं . करन उसी पीपल के पेड़ के नीचे रहने लगा जहा जिन्नात रहता था .जिन्नात करन वो सारी चीजे लाकर देता था जिससे करन खुश रहता था .कई वार तो जंगल में रहने जानवरों के हमलो से जिन्नात हि करन को बचाता था .करन कम दिमाग चलते उस जिन्नात के साथ 7 साल तक रहा लेकिन किसी आदमी को ये तक नहीं पता था कि इस जंगल कोई इन्सान भी रहता हैं . करन के परिवार में जब बट्बारा हो रहा होता हे करन के रिश्तेदार उसकी जमीन हड़पने के चक्कर में करन को मारा हुआ साबित करके जमीन अपने नाम पर कराना चाहते थे .जब यह बात जिन्नात को पता चली किकरन के साथ एसा होने जा रहा तो जिन्नात ने अपनी शक्ति से करन की शारीर व दिमाग की साडी बीमारियों को ठीक कर दिया .


जब करन पूरी तरह से ठीक हो गया तो जिन्नात ने सारी सच्चाई करन को बताई जो करन के साथ भूतकाल में जितनी घटना घटी जिन्नात ने सब करन को बतादी करन ने भाबुक होकर जिन्नात का धन्यवाद किया ओर उसे छोड़कर न जाने की अपील की जिन्नात भी भाबुक हो चूका था .उसने भी करन को छोड़कर न जाने की बात कही .जिन्नात ने करन को घर जाने को कहा जब करन घर आया तो सब रिश्तेदारों के होश उड़ चुके थे कि करन अभी तक जिन्दा हे चुपके से करन को घर में आने को कहा घर में आया तो करन को एक कमरे में बंद कर देते हैं .जमीन जायदाद के लालच में करन को मारने की कोशिश करते हे लेकिन जिन्नात उनकी साडी कोशिशे नकामयाब कर देता ओर करन को अपने हिस्से की जमीन जायदाद जो भी था सब मिल जाता हैं .शादी हो जाती हे बाल बच्चे भी हो जाते हे लेकिन करन ये राज़ किसी को नहीं बताया करन जब तक जिन्दा रहा तब तब जिन्नात उसके साथ रहा .

bhoot ki kahani jinnat ki dosti 

1 comment:

  1. If you are the one who is desperately searching for an authentic specialist to get solutions for all your problems, then believe us you have just landed at the right place. Moulana Rashid Khan, who is a famous molvi baba ji in India will guide you towards a right path and helping you in removing all the conflicts that are making you restless.

    Famous Molvi Baba Ji

    ReplyDelete